और अवनी ले आयी गोल्ड मेडल।

भारत के निशानेबाजों ने आखिर पैरा ओलंपिक में अपना जलवा दिखा ही दिया आपको बता दें कि भारत को पैरा ओलंपिक में पहला गोल्ड मिल चुका है और उसको लाने वाले हैं अवनीलेखरा।

टोक्यो पैरालिंपिक्स (Tokyo Paralympics) में भारत के गोल्ड मेडल (Gold Medal) का खाता खुल चुका है. ये खाता खोला है भारत की महिला निशानेबाज अवनि लेखरा (Avani Lekhara) ने, जिन्होंने 10 मीटर एयर स्टैंडिंग में पैरालिंपिक्स रिकॉर्ड बनाते हुए देश के लिए सुनहरी जीत दर्ज की.

अवनि लेखारा ने फाइनल में 249.6 पॉइंट हासिल किए, जो कि पैरालिंपिक्स खेलों के इतिहास का नया रिकॉर्ड है. अवनि को फाइनल में चीन की निशानेबाज ने कड़ी टक्कर दी. लेकिन फिर उन्होंने अपने अचूक निशाने से उन्हें हरा दिया. चीन की महिला शूटर झांग 248.9 अंक के साथ दूसरे नंबर पर रहीं और उन्होंने सिल्वर मेडल जीता.

अवनि लेखरा जब 11 साल की थीं तभी वो एक रोड एक्सीडेंट का शिकार हो गई. इस एक्सीडेंट में उन्हें स्पाइनल कोर्ड इंजरी हो गई, जिसके चलते वो पैरालाइज हो गईं. राजस्थान के जयपुर से ताल्कुक रखने वाले अवनि की वर्ल्ड रैंकिंग महिलाओं के 10 मीटर एयर स्टैंडिंग निशानेबाजी के SH1 इवेंट में 5वीं है. पारा स्पोर्ट्स में उतरने के लिए अवनि का हौसला उनके पिता ने बढ़ाया था. उन्होंने शूटिंग और आर्चरी दोनों में अपने हाथ आजमाए. लेकिन अंत में शूटिंग को अपना कैरियर बनाया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *