संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान किसान नहीं बैठेंगे चुप, रोजाना निकालेंगे मार्च।

संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान किसान नहीं बैठेंगे चुप, रोजाना निकालेंगे मार्च।मोदी सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन जारी है. इस बीच सोनीपत के कुंडली बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा की अहम बैठक हुई. इस बैठक में 26 नवंबर को दिल्ली कूच और आंदोलन की नई रणनीति को लेकर अहम फैसले हुए._

_इसी बैठक में फैसला किया गया कि 29 नवंबर से शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान रोजाना 500 किसान ट्रैक्टर लेकर संसद भवन की तरफ मार्च करेंगे. वहीं, आंदोलन की पहली बरसी की पूर्व संध्या तक पंजाब और हरियाणा के और किसान दिल्ली की सीमाओं की ओर बढ़ेंगे._

_किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हम चीन में नहीं रहते कि दिल्ली जाने के लिए हमें परमिशन लेनी पड़ेगी. गाजीपुर और टिकरी बॉर्डर पर सड़कें खोल दी गई हैं. 26 नवंबर को सभी राज्यों की राजधानियों में किसान प्रदर्शन करेंगे._

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *