दिव्यांग बच्चों ने अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाया

दिव्यांग बच्चों ने अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाया

कानपुर:बच्चों के अंदर प्रतिभा की कोई कमी नही होती
अंदर की प्रतिभाओं का मूल्यांकन करके बच्चों की प्रतिभा को निखारना सबसे बड़ी कला है ये कला शिक्षकों के अंदर पायी जाती है।

शिक्षक ही बच्चों के शारीरिक व मानसिक कमिया होने के बाद भी उनकी प्रतिभा को निखारने में पूरी मदद करता है जिसका जीता जाता उदाहरण दिव्यांग बच्चों के विभिन्न खेलों में देखने को मिला।

पूर्व माध्यमिक विद्यालय टटिया भगवंत कम्पोजिट विद्यालय सी आर सी सदर बाजार में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन सम्पन्न हुआ।
कुर्सी दौड़,नृत्य,गायन,निबंध व छूकर पहचान करने में दिव्यांग बच्चों ने अपना हुनर दिखाकर सबको अचंभित कर दिया।
साहिल, महिमा,अनमोल,रवि आदि दिव्यांग बच्चों ने सबका मनमोह लिया सीआरसी किदवई नगर,शास्त्री नगर,प्रेम नगर के साथ सदर बाजार से 88 बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।

खण्ड शिक्षा अधिकारी सौरभ आनंद ने बच्चों की हौसला अफजाई करते हुए उनके शिक्षकों की भी सराहना की विजयी बच्चों को पार्षद राजीव सेतिया ने पुरस्कार दिया।

इस अवसर पर प्रिया गुप्ता (इंचार्ज प्रधानाध्यापक एवं कार्यक्रम आयोजक),श्रीमती डिंपल रानी D.C.समेकित शिक्षा कानपुर नगर, स्पेशल एजुकेटर श्रीमती गायत्री श्रीवास्तव, अनुपमा शुक्ला, अपराजिता गुप्ता, आकांक्षा सिंह , विजय कुमार एवं अभिभावक गण के साथ साथ शिक्षक गण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *