ओमिक्रोन से भयभीत होने की जरूरत नहीं-चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना

✒️ *उत्तर प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना बोले,ओमिक्रोन से भयभीत होने की जरूरत नहीं*
उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार कोरोना वायरस संक्रमण के नए वैरियंट को लेकर बेहद गंभीर होने के साथ लोगों का आत्मबल भी मजबूत करने में लगी है। प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने साफ कहा कि ओमिक्रोन से भयभीत होने की जरा सी भी जरूरत नहीं है।प्रदेश में कर वसूली का बीते तथा इस वित्तीय वर्ष का ब्यौरा देने के साथ ही खन्ना ने कहा कि उत्तर प्रदेश में फिलहाल कोविड-19 नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि नए वायरस ओमिक्रोन के संबंध में किसी को भी भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि भय किसी भी समस्या का हल नहीं है इसलिए ना तो भयभीत हों और न ही भय फैलाएं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोनावायरस को नियंत्रित करने में प्रभावी कदम उठाया और उसमें सफलता भी मिली। इस दिशा में डब्ल्यूएचओ, नीति आयोग तथा प्रधानमंत्री ने भी उत्तर प्रदेश के मॉडल को सराहना की। हमने बेहतर तरीके से काम किया और इसीलिए हमारा पॉजिटिविटी की रेट और फेटिलिटी रेट अपेक्षाकृत कम रहा। इस दिशा में सरकार ने पूरी शिद्दत के साथ पूरे मनोयोग से प्रयास किया गया। उन्होंने कहा कि ओमिक्रोन को देखते हुए हमारे पास सभी प्रकार की तैयारी है। लखनऊ में एसजीपीजीआई, डा. डॉक्टर राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान तथा केजीएमयू में जीनोम सीक्वेंसिंग की व्यवस्था है। उन्होंने कहा विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोन ावायरस का यह वैरीएंट डेल्टा वैरीएंट से कम खतरनाक है इसलिए किसी प्रकार के पैनिक क्रिएट करने की आवश्यकता नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *