कानपुर के MDM में छिपकली, 20 बच्चे बीमार

कानपुर में भीतरगांव ब्लाक के सरसी गांव के प्राइमरी स्कूल में मिड डे मील (एमडीएम) खाते ही बच्चों की तबीयत बिगड़ गई। आनन-फानन में 8 बच्चों को एंबुलेंस से सीएचसी पहुंचाया गया। दो की हालत गंभीर पाए जाने पर कानपुर रेफर किया गया लेकिन परिजन लेकर नहीं गए। कुछ देर इलाज के बाद दोनों बच्चों की भी हालत सामान्य हो गयी। बाकी बच्चों को प्राथमिक इलाज के बाद ही घर भेज दिया गया। स्कूल पहुंची सीएचसी की टीम ने 38 अन्य बच्चों के स्वास्थ्य की जांच की। जानकारी होने पर बीएसए भी स्कूल पहुंचे।

सरसी प्राथमिक विद्यालय में सोमवार दोपहर के भोजन में सोयाबीन की सब्जी और रोटी बच्चों को दी गई। कुल 46 बच्चे स्कूल आए थे। एक बच्ची ने शिक्षक को बताया कि सब्जी में छिपकली गिरी हुई है। इसके बाद एमडीएम खाने वाले दूसरे बच्चों ने मिचली, सिरदर्द की शिकायत शुरू कर दी। बच्चों की हालत बिगड़ते देख शिक्षकों ने भीतरगांव सीएचसी को सूचना दी। कुछ ही देर में एंबुलेंस पहुंची और 8 बच्चों को सीएचसी पहुंचाया गया। डॉक्टरों ने बताया कि फूड प्वाइजनिंग के कारण सभी बच्चों की तबीयत बिगड़ी। बीएसए डॉ. पवन तिवारी ने बताया कि सभी बच्चे पूरी तरह स्वस्थ हैं। एहतियातन सभी बच्चों के स्वास्थ्य की जांच कराई गई है। खाद्य विभाग की टीम से खाने के सैंपल लिए हैं। बीएसए ने कहा कि लापरवाही करने वालों के खिलाफ जांच के बाद कार्रवाई होगी। प्रधानाध्यापक शमीमा खातून ने बताया कि छिपकली नहीं गिरी थी। एक बच्ची के घबराने के बाद बच्चों की हालत बिगड़ी थी।

कानपुर के MDM में छिपकली, 20 बच्चे बीमार:* उल्टी और दस्त होने पर 12 को सीएचसी में कराया गया भर्ती; दो गंभीर_ *—————————* _✍Ⓜ️कानपुर के घाटमपुर के सरसी गांव के प्राइमरी स्कूल में मिड डे मील( MDM) खाने से सोमवार को 20 बच्चों की तबीयत बिगड़ गई।_
_✍Ⓜ️आनन-फानन में 12 बच्चों को सीएचसी में भर्ती कराया गया। यहां सभी बच्चों का इलाज किया जा रहा है। इसमें दो बच्चों की हालत ज्यादा गंभीर बताई जा रही है। बताया जा रहा है खाने में छिपकली गिरी थी। वही खाना बच्चों को परोसा गया। उसे खाने के बाद उनकी तबीयत बिगड़ी है।_
_*✍Ⓜ️मिड डे मील खाते ही उल्टी और दस्त की शिकायत
_✍Ⓜ️सोमवार सुबह में स्कूल में बच्चों को खाना परोसा गया। खाना खाने के बाद 20 बच्चों को उल्टी और दस्त शुरू हो गए। उनकी हालत बिगड़ते देख शिक्षकों ने सीएचसी पर सूचना दी। इसमें से 12 बच्चों को एंबुलेंस की मदद से सीएचसी लाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *