paytm पेलिंक लाएगा व्यापार में क्रांति।

खबर यह है कि छोटे व्यापार Paytm Payment Links के साथ आसानी से इस समस्या से निजात पा सकते हैं. इसकी बेहतरीन तकनीक से पेमेंट पाना आसान, तेज़, और सुरक्षित हो गया है. महज़ कुछ ही सेकंड में एक लिंक पर टैप करें और हो गया पेमेंट. स्टार्ट-अप, फ़्रीलांसर, रिटेलर, और सोशल मीडिया व्यापारियों जैसे छोटे कारोबारियों को अब किसी ऐप्लिकेशन या वेबसाइट के पेमेंट गेटवे में निवेश करने की ज़रूरत नहीं है, और न ही उन्हें किसी तरह की कोडिंग सीखने की ज़रूरत है, जो आपकी लागत को बढ़ाने के साथ मुनाफे को घटा देता है.

अगर आप सूक्ष्म उद्योग से जुड़े एक व्यापारी हैं, तो आप इस तरह Paytm Payment Links के ज़रिए अपने पेमेंट कलेक्शन को आसान बना सकते हैं. अपने कारोबार को देशभर में पहुंचाने और अपने मुनाफे को बढ़ाने के लिए आज ही इस तकनीक को अपनाएं.

● UPI पर 0% ट्रांजेक्शन चार्ज से यह आपके मुनाफे को बढ़ा देता है. UPI को भारत में पेमेंट करने के लिए सबसे ज़्यादा पसंद किया जाता है.
● कैश ऑन डिलीवरी (सीओडी) ऑर्डर को प्रीपेड यानी पहले से पेमेंट लेकर अपने मुनाफे को बढ़ाएं. सीओडी ऑर्डर पर रिटर्न-टू-ओरिजिन (आरटीओ) यानी सामान वापस आने की संभावना बनी रहती है, लिहाजा इससे आपके मुनाफा पर गहरा असर पड़ता है.
● रिकॉर्ड रख पाना आसान : अगर आप बैंक ट्रांसफर, वॉलेट, UPI वगैरह जैसे अलग-अलग स्रोतों से ऑनलाइन पेमेंट लेते हैं, तो इनसे मिलने वाली पेमेंट का ब्यौरा रखने में आपको घंटों लगाने पड़ते हैं. Paytm Payment Links सभी पेमेंट, सेटलमेंट, रिफंड को एक ही डैशबोर्ड पर दिखाता है, जिससे आपका काम आसान हो जाता है. हमारा डैशबोर्ड आधुनिक तकनीक से तैयार किया गया है जिसकी मदद से आप डेटा को समझते हुए सही फैसले ले सकते हैं.
● Paytm Payment Links को इस्तेमाल करने के दौरान, आपको अपने ग्राहकों के साथ अपनी निजी या बैंक की जानकारी शेयर करने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी.
● सिर्फ़ एक Excel फाइल अपलोड करके, एक साथ कई पेमेंट लिंक भेजे जा सकते हैं.
● अपनी पेमेंट साइकिल को बेहतर बनाने के लिए, ऑटोमैटिक पेमेंट रिमाइंडर भी भेजे जा सकते हैं.
● 1-Click रिफंड : Paytm Payment Links से आप कुछ ही सेकंड में पेमेंट रिफंड कर सकते हैं. रिफंड को लेकर आसान नीति से आपके कारोबार में भी बढ़ोतरी होती है.

Paytm Payment Links को आसानी से और तुरंत चालू किया जा सकता है. अब समय आ गया है! Paytm के साथ अपने कारोबार को एक नए स्तर पर ले जाएं और T+1 सेटलमेंट, फ्रॉड से सुरक्षित रखने वाली तकनीक के साथ बैंक-ग्रेड सुरक्षा और Paytm Postpaid जैसे विकल्पों के साथ पेमेंट पर क्रेडिट और ग्राहकों के लिए EMI(आसान किश्तों) की सुविधा पाएं. यह सभी सुविधाएं आपके कारोबार को आसान बनाने में आपकी मदद करेंगी.

Paytm Payment Links से किस तरह के कारोबार को फायदा हो सकता है?

हर तरह के कारोबार!

आपका कारोबार Paytm Payment Links किस तरह इस्तेमाल कर सकता है? नीचे कुछ ऐसे उद्योग और सेक्टर दिए गए हैं जिनमें Paytm Payment Links ने ऑनलाइन पेमेंट में नया बदलाव ला दिया है!

● इलैक्ट्रॉनिक, फर्नीचर, ज्वेलरी, और कंप्यूटर से जुड़े सामानों के रिटेल स्टोर : बड़ी खरीद पर, ग्राहक क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करना पसंद करते हैं, इसके पीछे रिवॉर्ड पॉइंट प्रोग्राम जैसी वजहें होती हैं. इस तरह के सामानों की होम डिलीवरी में, ग्राहक डिलीवरी करने वाले व्यक्ति को बड़ी रकम कैश में देने से बचते हैं. इस तरह के मामलों में, एक पेमेंट लिंक बेहद ही कारगर साबित होता है.

● शिक्षा : Paytm डैशबोर्ड से एक साथ कई पेमेंट लिंक जनरेट करें या API इंटिग्रेशन के ज़रिए सीधे अपने ERP से लिंक जनरेट किया जा सकता है. इससे अभिभावकों को पेमेंट करने के लिए मनचाहे प्लैटफॉर्म की सुविधा मिल जाती है. स्कूल/कोचिंग क्लास वगैरह आसानी से डैशबोर्ड पर पेमेंट ट्रैक कर सकते हैं. इससे उन्हें बैंक स्टेटमेंट देखकर रिकॉर्ड बनाने और कई घंटे लगाने की ज़रूरत नहीं है.

● ई-कॉमर्स कारोबार : अब आप पेमेंट गेटवे के साथ-साथ, पेमेंट लिंक को भी पेमेंट करने के एक विकल्प के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे सीओडी ऑर्डर पर आरटीओ यानी सामान वापस आने की संभावना कम हो जाती है. साथ ही, आप ऐसे ग्राहकों तक पहुंच पाते हैं जो कार्ट से चेकआउट करने के बजाय, पेमेंट लिंक का इस्तेमाल करना पसंद करते हैं.

● फ्रीलांसर : फ्रीलांसर अकसर एक ऐसी अजीब स्थिति में होते हैं जहां उन्हें क्लाइंट को पेमेंट के लिए याद दिलाना पड़ता है. साथ ही, उन्हें अपनी निजी या बैंक की जानकारी भी देनी पड़ती है. इसके बजाय, फ्रीलांसर को बस Paytm के बिज़नेस डैशबोर्ड से एक लिंक भेजना है और कुछ ही सेकंड में पेमेंट आपके पास होगी. इसमें आप काम की पुष्टि के लिए पेमेंट का कुछ हिस्सा और तेज़ी से पेमेंट पाने के लिए ऑटोमैटिक पेमेंट रिमाइंडर भी लगा सकते हैं. अब आप अपने काम पर ध्यान दे सकते हैं और पेमेंट से जुड़ी आपकी सभी समस्याओं का समाधान बनेगा Paytm Payment Links!

● डायरेक्ट टू कस्टमर (डीटूसी) और सोशल मीडिया कारोबारी : सोशल मीडिया मार्केटिंग पर चलने वाले छोटे कारोबारों के लिए, कई अलग-अलग प्लैटफॉर्म जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम, वॉट्सऐप वगैरह पर ऑर्डर आ सकते हैं, जहां ऑर्डर का ब्यौरा रखना और पेमेंट को ट्रैक करना चुनौती बन जाता है. Paytm Payment Links पेमेंट पाना आसान बनाने के साथ, एक ही डैशबोर्ड पर इन सभी ऐप्लिकेशन के ऑर्डर की पेमेंट का डेटा इकट्ठा करता है. इसके साथ ही, यह कैश ऑन डिलीवरी ऑर्डर को प्रीपेड में बदलकर रिटर्न-टू-ओरिजिन को कम करने में भी मदद करता है. इससे आप ग्राहकों को रिफंड पाने की सुविधा भी दे सकते हैं.

पेमेंट लिंक बनाना बेहद ही आसान है!

Paytm Payment Links के ज़रिए पेमेंट पाने के लिए आपको किसी तकनीकी महारत की ज़रूरत नहीं है. आपको सिर्फ इन 3 आसान तरीके अपनाने हैं – लिंक बनाएं, शेयर करें, और ट्रैक करें.
इतने फायदों के साथ, आप Paytm Payment Links के साथ अपने डिजिटल पेमेंट के सफर को अभी शुरू कर सकते हैं, वो भी सिर्फ एक क्लिक में. Paytm Payment Links से जुड़ने और ज़्यादा जानकारी के लिए यहाँ पर जाएं.