आखिर कहां गए 2000 के गुलाबी कुरकुरे नोट।

2000 के गुलाबी नोट कहां हो गए गुम, मार्च अंत तक 2% से भी कम हुआ सर्कुलेश,आरबीआई ने बताया*
आजकल 2000 रुपये वाली लंबी गुलाबी नोट बाजार में बहुत कम नजर आती हैं। हमें पूरा यकीन है कि आपको भी ये गुलाबी नोट देखे बहुत दिन बीत गए होंगे। आरबीआई की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार 2000 रुपये मूल्यवर्ग के बैंक नोटों की संख्या में पिछले कुछ वर्षों में लगातार गिरावट आई है। इस साल मार्च के अंत तक कुल करेंसी नोटों की तुलना में 2000 करेंसी नोट का 1.6 प्रतिशत सर्कुलेशन हुआ है। इस साल मार्च तक सभी मूल्यवर्ग के करेंसी नोटों की कुल संख्या 13,053 करोड़ थी, जो एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में 12,437 करोड़ थी। डिजिटल ट्रॉन्जैक्शन में बढ़ोतरी और 2000 हजार रुपये की नोट का कम इस्तेमाल इसका मुख्य कारण है मार्च 2020 के अंत तक 2000 रुपये के मूल्यवर्ग के नोटों के सर्कुलेशन की संख्या 274 करोड़ थी, जो प्रचलन में कुल करेंसी नोटों की संख्या का 2.4 प्रतिशत था। मार्च 2021 तक कुल बैंक नोटों की संख्या 245 करोड़ या यूं कहें कि 2 प्रतिशत तक गिर गई। वहीं, पिछले वित्त वर्ष के अंत तक यह 214 करोड़ या 1.6 प्रतिशत तक गिर गई। 2000 रुपये मूल्यवर्ग के नोट प्रचलन में मुद्रा नोटों के कुल मूल्य के 22.6 प्रतिशत से मार्च 2021 के अंत में 17.3 प्रतिशत से घटकर मार्च 2022 के अंत में 13.8 प्रतिशत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *