ग्राम समाज की भूमि पर अवैध कब्जा, प्रशासन नतमस्तक

*ग्राम समाज की भूमि पर अवैध कब्जा, प्रशासन नतमस्तक

*
कलीनगर- भूमाफियाओं का ग्राम समाज की भूमि पर अवैध कब्जा है। भूमाफियाओं के आगे प्रशासन नतमस्तक है। अवैध कब्जेदारों पर शिकंजा कसने में असफल दिख रहा है।
देशव्यापी राममंदिर का मुद्दा लेकर भाजपा सरकार केंद्र व राज्य में सत्ता में आई है। वर्ष 2014 में भाजपा बनते ही राममंदिर का मुद्दा उठाया गया और 2017 में सरकार बनते ही राममंदिर का कार्य भी शुरू हो गया। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में भी काशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी का कायाकल्प करके दिव्य भव्य बनाया गया। उत्तराखंड के केदारनाथ मंदिर को भव्य रूप दिया गया। वर्तमान में मोदी और योगी की डबल इंजन की सरकार मन्दिरों की दशा और दिशा बदलकर मंदिरों का उद्धार कर रही है तो वहीं योगी की सख्त सरकार में भी मन्दिर पर कब्जा कर उन्हें तोड़ा जा रहा है। मन्दिरों को विध्वंस किया जा रहा है। योगी सरकार में मुगलवंंश शासन के कारनामे खुलेआम होते नजर आ रहे हैं।
कलीनगर तहसील क्षेत्र के ग्राम वीरखेडा में एक ब्रह्मदेव स्थल पर लोग पूजा करते थे। देखते ही देखते मन्दिर के प्रति श्रृद्धा व आस्था बढ़ने लगी। बढ़ती आस्था व पूजा करने वाले लोगों की भीड़ देखकर थाना माधोटांडा निवासी भारत सिंह ने मन्दिर के नाम जमीन दान कर दी और मन्दिर का मन्दिर का निर्माण कराया। मन्दिर निर्माण होने से और अधिक संख्या में श्रद्धालु यहां आने लगे और कृष्णलीला के मंचन के साथ मेले का आयोजन होने लगा। आज भी नागपंचमी के दिन नागदेवता को दूध चढ़ाने की परंपरा है।
मन्दिर की बढ़ती लोकप्रियता, श्रृद्धा एवं आस्था को नजर लग गई। ग्राम चांदूपुर निवासी अनिल पाण्डेय पुत्र राजेन्द्र प्रसाद मन्दिर पर धीरे धीरे अपना हुक्म जमाने लगा और पूर्णरूप से दबंगई के बल पर कब्जा कर लिया। निर्माण कराये गये मन्दिर को तुड़वा दिया गया। मन्दिर पर लगने वाले मेले का आयोजन और कृष्णलीला मंचन भी बन्द करवा दिया गया। अवैध कब्जा, मन्दिर तोड़ने व मेले के बन्द करने को लेकर ग्राम प्रधान सरदार कुलवंत सिंह ने अनिल पाण्डेय के खिलाफ कार्यवाही की। लेकिन आरोपियों का कब्जा बरकरार है। ग्राम सभा की जमीन पर आम का बाग भी है। शेष भूमि पर फसलें उगाई जाती है। पुलिस की मिलीभगत से अनिल पाण्डेय अवैध कब्जा किए हुए है। उपनिरीक्षक धर्मेन्द्र यादव ने बंटवारा सम्बन्धी आख्या में भूमाफियाओं के बयान दर्ज कर फर्जी निस्तारण कर दिया। पुलिस विभाग और भूमाफिया एक दुसरे की पैरवी करते नजर आ रहे हैं। भूमाफियाओं के खिलाफ कार्यवाही करने में कलीनगर प्रशासन नाकाम है। भूमाफियाओं के आगे प्रशासन नतमस्तक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *