Home Uncategorized लोकसभा चुनाव में अधिग्रहण किए वाहन होंगे जीपीएस से लैस

लोकसभा चुनाव में अधिग्रहण किए वाहन होंगे जीपीएस से लैस

6
Spread the love


पीलीभीत। लोकसभा चुनाव में सेक्टर मजिस्ट्रेट, पर्यवेक्षक, जोनल मजिस्ट्रेट, उड़नदस्ता, स्टेटिक्स, सर्विलांस तथा पुलिस विभाग के कार्मिकों के लिए हल्के और भारी वाहनों के अधिग्रहण करने संबंधी जानकारी देते हुए वाहनों के किराए और मोबाइल वेस ट्रेकिंग एप के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। नोडल अधिकारी/नगर मजिस्ट्रेट विजय वर्धन तोमर ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सभी वाहनों में मतदान से दो दिन पहले तक जीपीएस लगाने की कार्यवाही पूरी कर ली जाएगी। इस दौरान एआरटीओ वीरेंद्र सिंह के अलावा जिला मुख्यालय के तमाम पत्रकार बंधु मौजूद रहे।

उन्होंने बताया कि लोकसभा निर्वाचन के लिए परिवहन विभाग द्वारा वाहनों का अधिग्रहण किया जा रहा है। अब तक जिले की आवश्कता के अनुसार 939 वाहनों का अधिग्रहण किया जा चुका है, जबकि 2000 वाहन स्वामियों को नोटिस भेजे गए हैं।
सेक्टर मजिस्ट्रेट, पर्यवेक्षक, जोनल मजिस्ट्रेट, उड़न दस्ता, स्टेटिक व सर्विलांस टीम के लिए 280 हल्के वाहन लगाए गए। पुलिस विभाग के प्रयोग के लिए 305 हल्के वाहनों का अधिग्रहण किया गया है। वहीं पोलिंग पार्टियों के परिवहन के लिए विधानसभा वार 354 वाहनों को प्रयोग किया जाएगा। उन्होंने कहा कि निर्वाचन ड्यूटी में जो वाहन चालक व परिचालक मतदान के दिन तैनात रहेंगे, उन्हें डाक मतपत्र के जरिये मतदान की सुविधा दी जा रही है। नोडल अधिकारी विजय वर्धन तोमर ने बताया कि मतदान के दिन इस्तेमाल होने वाले वाहनों में जीपीएस ट्रेकिंग की व्यवस्था की जा रही है। इन पर नजर रखने के लिए जिला स्तर पर नोडल अधिकारियों की तैनाती की गई है। वाहनों में जीपीएस लगा होने से पोलिंग पार्टियों को अपने गंतव्य तक पहुंचने में मदद मिलेगी। वहीं यदि कोई वाहन निर्धारित रूट से अन्यत्र का प्रयोग करता है तो उसकी जानकारी भी मिल सकेगी।बिना जीपीएस के कोई वाहन ईवीएम लेकर नहीं जाएगा। जिस वाहन में जीपीएस नहीं होगा उस पर चालक के मोबाइल में जीपीएस एप अपलोड किया जाएगा। इसके लिए सभी वाहनों के चालकों को 16 अप्रैल को ही बुलाया गया है।

प्रेक्षक, सहायक प्रेक्षक, व्यय प्रेक्षक, उड़नदस्ता, जोनल मजिस्ट्रेट, सेक्टर मजिस्ट्रेट इत्यादि के लिए 280 हल्के वाहन 15 अप्रैल को कलेक्ट्रेट परिसर में तथा सेक्टर पुलिस अधिकारी एवं सीपीएमएफ के लिए 305 हल्के वाहन 15 अप्रैल को ही पुलिस लाइन में एकत्र होंगे।

पोलिंग पार्टियां के आवागमन के लिए बस और मिनी बस की रहेगी सुविधा
127 सदर विधान सभा से पोलिंग पार्टियों को मतदान स्थल तक लाने और ले जाने के लिए 65 बस और 23 मिनी बसों को अधिग्रहण किया गया है। 128 बरखेड़ा विधानसभा के लिए 70 बस और 04 मिनी बसें, 129 विधानसभा पूरनपुर के लिए 69 बसें और 22 मिनी बसों का प्रबंध किया गया है। 130 विधानसभा बीसलपुर में 79 बसें और 04 मिनी बसों की व्यवस्था की गई है। इनमें स्कूल बस और निजी बसें शामिल हैं। 18 बसों को रिजर्व में रखा जाएगा। सभी 354 वाहन 16 अप्रैल को नवीन मंडी स्थल पीलीभीत में एकत्र किए जायेंगे।निर्वाचन सामग्री में प्रयुक्त होने वाले भारी वाहनों को 16 अप्रैल को सनातन धर्म बांके बिहारी राम इंटर कॉलेज पीलीभीत में एकत्र होंगे।

ट्रांस शारदा क्षेत्र में मतदान कराने के लिए लगी हैं सात बड़ी बसें
पूरनपुर तहसील क्षेत्र के ट्रांस शारदा क्षेत्र में सात मतदान केंद्र हैं। यह नेपाल सीमा पर हैं। यहां जाने के लिए पैंटून पुल बना है। मतदान केंद्रों पर पोलिंग पार्टियों को पहुंचाने के लिए सात बड़ी बसों को लगाया गया है। चालकों को रूट चार्ट दिया जाएगा। इन बसों को पहले रवाना किया जाएगा।

बरेली से मंगाए गए हैं 67 वाहन,अनुपस्थित अधिग्रहण वाहन स्वामियों के खिलाफ होगी कार्यवाही
नगर मजिस्ट्रेट ने बताया कि पोलिंग पार्टियों के लिए 354 वाहन चाहिए। उनके पास 287 मौजूद हैं। शेष 67 वाहन बरेली से मंगवाकर 16 अप्रैल को मंडी समिति में खड़े कराए जाएंगे। नोडल अधिकारी ने बताया कि इस बार निर्वाचन आयोग की ओर से वाहनों के किराये में भी दस प्रतिशत की बढोतरी की गई है। जो वाहन तय समय पर नहीं आएगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

Related posts:

About The Author

6 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here