Home Newsbeat हिन्दू महासभा ने किया मां यशवंतरी देवी की महाआरती का आयोजन

हिन्दू महासभा ने किया मां यशवंतरी देवी की महाआरती का आयोजन

0
Spread the love

जिलाध्यक्ष पंडित पंकज शर्मा के नेतृत्व में प्रत्येक नवरात्रों में किया जाता है भव्य महाआरती का आयोजन–

-पीलीभीत। नगर में विभिन्न हिन्दू संगठनों के द्वारा परंपरागत तरीके से पूरी निष्ठा भावना के साथ पूजा अर्चना की जाती है जिसमें नवदुर्गों में मां दुर्गा की आरती एवं सावन में मां गंगा आरती का आयोजन किया जाता रहा है। इस कड़ी में मंगलवार को अष्टमी तिथि पर अखिल भारत हिन्दू महासभा के जिला अध्यक्ष पंडित पंकज शर्मा के नेतृत्व में यशवंतरी माता की भव्य महाआरती का आयोजन किया गया। जिसमें संगठन की सभी टीमों के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। मां यशवंतरी देवी की आरती के दौरान पूरा मंदिर परिसर घंटे घड़ियालों की ध्वनि से गूंज उठा। आपको बताते चलें कि हर वर्ष जिलाध्यक्ष पंडित पंकज शर्मा के नेतृत्व में नवरात्र में मां यशवंतरी देवी की महाआरती का आयोजन हर्षोल्लास के साथ किया जाता है जिसमें संगठन के समस्त सदस्य मां दुर्गा की आरती करते हैं पंडित पंकज शर्मा अपने साथियों के साथ पीलीभीत मे समस्त मंदिरो चाहे देवी जी का मंदिर हो य दक्षिणी हनुमान मंदिर या फिर हर शिवालयों मे आरती कर चुके है विभिन्न संगठनों द्वारा मंदिरों पर आरती का आयोजन पंडित पंकज शर्मा जी के आयोजनों की सफलता को देखने के बाद ही शुरू किया गया। सबसे पहले आरती का आयोजन पं0 पंकज शर्मा ने ही सबके साथ मिलकर चलया था। इसी क्रम में मंगलवार को अष्टमी तिथि पर मां यशवंतरी देवी की आरती का आयोजन किया गया था। इस मौके पर समस्त अखिल भारत हिन्दू महासभा के पदाधिकारियों ने सामूहिक रूप से 101 दीपक वाली आरती से मां यशवंतरी देवी की महाआरती की। आरती के पश्चात मौके पर उपस्थित सभी लोगों को मां यशवंतरी देवी का प्रसाद वितरण किया गया। आपको बता दें कि देवी दुर्गाजी की आठवीं शक्ति का नाम महागौरी है और नवरात्रि के आठवें दिन इनकी उपासना की जाती है। इन्हें मां पार्वती(अन्नपूर्णा) के रूप में पूजा जाता है। इनका वर्ण पूर्ण रूप से गौर है,इसलिए इन्हें महागौरी कहा जाता है। इनके गौरता की उपमा शंख, चंद्र और कुंद के फूल से की गई है एवं इनकी आयु आठ वर्ष की मानी हुई है। इनके समस्त वस्त्र एवं आभूषण आदि भी श्वेत हैं। मान्यता के अनुसार अपनी कठिन तपस्या से मां ने गौर वर्ण प्राप्त किया था। तभी से इन्हें उज्जवला स्वरूपा महागौरी, धन ऐश्वर्य प्रदायिनी, चैतन्यमयी त्रैलोक्य पूज्य मंगला, शारीरिक मानसिक और सांसारिक ताप का हरण करने वाली माता महागौरी का नाम दिया गया। महाआरती के दौरान पंडित पंकज शर्मा, जिला उपाध्यक्ष शलभ सिंह, पंडित जयशंकर शर्मा महंत गौरीशंकर मंदिर, जिला मीडिया प्रभारी प्रेम सागर शर्मा, युवा जिलाध्यक्ष गौरव शर्मा, युवा जिला महामंत्री आयुष सक्सेना, नगर अध्यक्ष सुनील कश्यप, संजू पांडेय, पवन तिवारी, नगर उपाध्यक्ष नरेंद्र श्रीवास्तव, सर्वेश कुमार, युवा टीम से जिला मंत्री प्रदीप शर्मा, अजय शर्मा, भगवानदास वर्मा एवं अमित राठौर, महिला जिला महामंत्री संजू शुक्ला आदि सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालुगण उपस्थित रहे।

About The Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here