विश्व साइकिल दिवस साइकिल इको फ्रेंडली एवं सस्ती सवारी

विश्व साइकिल दिवस
साइकिल इको फ्रेंडली एवं सस्ती सवारी
विश्व साइकिल दिवस के अवसर पर ग्लोबल साइंस क्लब के तत्वाधान में ऑनलाइन मोड में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया| इस अवसर पर साइकिल चलाने के लाभ सहित चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें अंशिका शर्मा और रिया कश्यप ने श्रेष्ठता दिखाई| आर्य कन्या इंटर कॉलेज की प्रधानाचार्य सुमन देवी ने बताया कि साइकिल सबके बजट में आसानी से फिट हो जाती है, साइकिल चलाने के लिए किसी लाइसेंस की जरूरत नहीं पड़ती,छोटे बच्चों की पसंदीदा सवारी है, साइकिल को अपना साथी बनाना अच्छा है| कार्यक्रम संयोजिका गुंजन शर्मा ने बताया कि साइकिल की खासियत है कि चाहे कितना भी ट्रैफिक क्यों ना हो यह आराम से वहां से निकल जाती है| बढ़ते प्रदूषण के कारण अब ज्यादातर राष्ट्र साइकिल सवारी को बढ़ावा देने लगे हैं| बताया कि नीदरलैंड को दुनिया का बाइसिकल कैपिटल भी कहा जाता है| यहां की जनसंख्या के मुकाबले साइकिलों की संख्या लगभग सवा गुनी है| यहां लोग आने जाने के लिए बाइक व कार के तुलना में साइकिल को महत्व देते हैं l प्रतिभागियों ने अपने अनुभव साझा करते हुए बताया कि यह हृदय रोग का जोखिम कम करती है,वजन कम करने का अच्छा प्रवँधन करती है, टाइप 2 मधुमेह का जोखिम कम करती है, मांसपेशियों को मजबूत करती है, गठिया की रोकथाम में मदद करती है तथा तनाव कम करती है| क्लब के राज्य समन्वयक लक्ष्मीकांत शर्मा ने बताया कि घुटने के रोग से पीड़ित , सांस के रोगियों, मिर्गी के रोगियों तथा मानसिक थकान होने पर बिना चिकित्सक के परामर्श के साइकिल ना चलाएं| बहुत छोटे बच्चे अपने माता-पिता की देखरेख में ही साइकिल चलाएं |सुबह के समय 20-30 मिनट तक साइकिल चलाना स्वास्थ्य की दृष्टि से बेहतर है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *